नागरिकता संशोधन कानून, 144 याचिकाओं पर SC में आज सुनवाई

0
36

भारत में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शनों के बीच सर्वोच्च न्यायालय में सीएए के खिलाफ और समर्थन में दायर 144 याचिकाओं पर सुनवाई होगी। याचिकाओं में एक केंद्र सरकार की भी याचिका दायर है। याचिकाकर्ताओं ने सीएए को संविधान की मूल भावना के खिलाफ और विभाजनकारी बताते हुए रद्द करने का आग्रह किया है। , वहीं कुछ याचिकाओं में नागरिकता संशोधन कानून को संवैधानिक घोषित करने की मांग की गई है। चीफ जस्टिस एसए बोबडे की अध्यक्षतता वाली 3 सदस्यी पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है।

न्यायायाधीश एसए बोबडे, जस्टिस एस अब्दुल नजीर तथा जस्टिस संजीव खन्ना की तीन सदस्यीय पीठ ने 9 जनवरी को सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया था। कोर्ट ने नागरिकता कानून को लेकर विरोध-प्रदर्शन के दौरान हिंसक घटनाओं पर नाराजगी जताई थी और कोर्ट ने कहा था कि याचिकाओं पर तभी सुनवाई होगी जब हिंसक घटनाएं बंद हो जाएगी।

आप भी जानें क्या है नागरिकता कानून-
सीएए के अनुसार धार्मिक प्रताड़ना के चलते 31 दिसंबर 2014 तक पाक, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदाय के लोगों को अवैध प्रवासी नहीं माना जाएगा और उन्हें भारतीय नागरिकता दी जाएगी। राष्ट्रपति ने गुरुवार की रात नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2019 को स्वीकृति प्रदान कर दी थी जिससे यह कानून बन गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here